-->
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख अधिवेशन।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख अधिवेशन।


1885 का कांग्रेस का प्रथम अधिवेशन।

  • स्थान -बम्बई।
  • अध्यक्ष - व्योमेश चन्द्र बनर्जी दो बार अध्यक्ष (1885,1892)
  • 72 प्रतिनधियों ने भाग लिया।
  • दादा भाई नौरोजी के सुझाव पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस नाम रखा गया।

1886 कांग्रेस का अधिवेशन ।

  • स्थान -कलकत्ता।
  • अध्यक्ष - दादा भाई नौरोजी (तीन बार कांग्रेस के अध्यक्ष बने 1886,1893,1906)

1887 का कांग्रेस अधिवेशन ।

  • स्थान - मद्रास।
  • अध्यक्ष - बदरुद्दीन तैय्यब ( कांग्रेस के पहले मुस्लिम अध्यक्ष थे)

1888 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - इलाहाबाद।
  • अध्यक्ष - जॉर्ज यूले (प्रथम अंग्रेज अध्यक्ष)

1896 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - कलकत्ता।
  • अध्यक्ष - रहीमतुल्ला सयानी।
  • इस अधिवेशन में राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम का पहली बार गायन किया गया।

1905 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - वारणसी।
  • अध्यक्ष - गोपाल कृष्ण गोखले।
  • स्वदेशी आंदोलन का समर्थन।
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख अधिवेशन।

1906 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - कलकत्ता।
  • अध्यक्ष - दादा भाई नैरोजी।
  • इस अधिवेशन में पहली बार स्वराज शब्द का प्रयोग किया गया।

1907 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - सूरत।
  • अध्यक्ष - रास बिहारी घोष।
  • इस अधिवेशन में कांग्रेस का विभाजन ।

1911 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - कलकत्ता।
  • अध्यक्ष - विशन नारायण दर।
  • इस अधिवेशन में पहली बार जन गण मन का गान किया गया।

1916 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - लखनऊ।
  • अध्यक्ष - अम्बिकचरण मजूमदार।
  • इस अधिवेशन में कांग्रेस-लीग के बीच लखनऊ पैक्ट (पृथक निर्वाचन स्वीकार)
  • नरम दल और गरम दल एक हुए।

1917 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - कलकत्ता।
  • अध्यक्ष - एनी बेसेंट ( कांग्रेस की प्रथम महिला अध्यक्ष बनी )
  • तीन महिलाएं कांग्रेस की अध्यक्ष बनी ।
  • 1917 में एनी बेसेंट।
  • 1925 में सरोजिनी नायडू (प्रथम भातीय महिला )
  • 1933 में नलनी सेन गुप्ता।

1919 का कांग्रेस अधिवेशन

  • स्थान - अमृतसर।
  • अध्यक्ष - मोती लाल नेहरू ( दो बार अध्यक्ष बने 1919,1928)

1920 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - नागपुर।
  • अध्यक्ष - वीर राघवाचारी।
  • असहयोग आंदोलन का प्रस्ताव पारित हुआ।
  • कांग्रेस द्वारा पहली बार भाषाई आधार पर प्रान्तों के गठन की बात की गई।

1924 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - बेलगाँव ( कर्नाटक )
  • अध्यक्ष - महात्मा गांधी ( मात्र एक बार )

1929 का कांग्रेस अधिवेशन ।

  • स्थान - लाहौर।
  • अध्यक्ष - जवाहर लाल नेहरू।
  • इस अधिवेशन में पूर्ण स्वराज का प्रस्ताव पारित हुआ।
  • 26 जनवरी 1930 को स्वतंत्रता दिवस मनाने का निश्चय किया गया।

1931 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - कराची।
  • अध्यक्ष - बल्लभ भाई पटेल।
  • इस अधिवेशन में मौलिक अधिकार सम्बन्धी प्रस्ताव पारित किया गया।
  • इसी अधिवेशन में गाँधी ने कहा था गाँधी मर सकते हैं परतन्तु गांधीवाद नहीं।

1936 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - लखनऊ।
  • अध्यक्ष - जवाहर लाल नेहरू।
  • इसी अधिवेशन में नेहरू ने कहा मैं समाजवादी हूँ।

1937 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - फैजपुर।
  • अध्यक्ष - जवाहर लाल नेहरू।
  • पहली बार कांग्रेस का अधिवेशन किसी गॉव में हुआ।

1938 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - हरिपुरा ( गुजरात )
  • अध्यक्ष - सुभाष चंद्र बोस।
  • इसी अधिवेशन में राष्ट्रीय नियोजन समिति का गठन।

1939 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - त्रिपुरी ( जबलपुर, मध्यप्रदेश)
  • अध्यक्ष -सुभाष चंद्र बोस।
  • इसी अधिवेशन में गाँधी जी से विवाद होने के कारण सुभाष द्वारा त्यागपत्र दिया जाना तथा राजेन्द्र प्रसाद को अध्यक्ष बनाया गया।

1940 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • स्थान - रामगढ़।
  • अध्यक्ष - अबुल कलाम आजाद।
  • ये सबसे लंबे समय तक कांग्रेस के अध्यक्ष रहे 1940-1945 तक।

1947 का कांग्रेस अधिवेशन।

  • अध्यक्ष - जे.बी. कृपलानी।

Related Posts

0 Response to "भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख अधिवेशन।"

Post a Comment

Please leave your valuable comments here.

Iklan Bawah Artikel